Top
- प्रेम कुमारदेश में एक अजीबोगरीब माहौल है। हर एक मुद्दे पर देश बंटा दिखता है। दो अलग-अलग विचार एक-दूसरे से लड़ते नज़र आते हैं। दिक्कत इसलिए भी और बढ़ जाती है क्योंकि दोनों पक्ष अपने-अपने विचारों पर अमल को नाक का विhttps://youtu.be/Q7M5k4p7HIkषय बना लेते हैं। सहमति बनाने के लिए कोई पहल नहीं होती। जो होता है एकतरफा होता है। देश के 26 लाख छात्र इसी द्...
Share it