उल्टा चश्मा! रमन्ते यत्र देवता तत्र नारी पूज्यन्ते

0
30

महिला दिवस पर ये जुमला आम है- यत्र नारी पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता। मतलब ये कि जहां नारी पूजी जाती हैं वहीं देवता निवास करते हैं। इसे पलट कर देखें तो यह कुछ ऐसा हो जाता है- रमन्ते यत्र देवता नारी तत्र पूज्यन्ते। देवता जहां बसते हैं वहीं नारी पूजी जाती है।

दोनोें में फर्क ये है कि पहले में नारी की प्रधानता है, दूसरे में नारी गौण है। इन दिनों मनाए जा रहे महिला दिवस में दरअसल लोकप्रिय मुहावरा पलट गया है। बहरहाल उत्सव हर क्षेत्र में, हर जगह हुए हैं।

गूगल ने डूडल शेयर कर मनाया, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में स्वच्छता अभियान से जुड़ी महिलाओं को सम्मानित करके इस दिवस का सम्मान किया।

वहीं, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी  नारी शक्ति अवार्ड समारोह के जरिए देश की महिलाओं को  सम्मानित किया।

नारी शक्ति अवार्ड 2017
नारी शक्ति अवार्ड 2016 ग्रहण करती डॉ मीना शर्मा

ट्वीट से लेकर फेसबुक और सोशल मीडिया के दूसरे माध्यमों में महिला दिवस अलग-अलग रूपों में दिखता रहा। भारत ही नहीं भारत से बाहर दुनिया भर में महिला दिवस मनाया गया।

टी-बैग की तरह होती है महिला!

केन्द्रीय मंत्री अशोक गजापति ने एयर इंडिया की महिला सदस्यों को सम्मानित किया।

केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने महिलाओं से स्किल डेवलपमेन्ट के जरिए खुद को सशक्त बनाने और प्रधानंत्री के स्किल्ड इंडिया विजन को कामयाब बनाने का आह्वान किया।

I call on women to empower themselves through skill development & contribute to @PMOIndia vision of building a Skilled India

On #WomensDay, @TexMinIndia celebrates women artisans & weavers by initiating a slew of measures for their social & economic development.

Be respectful to women, for they are the mothers of mankind.

माताओं  और बहनों से अन्याय कर कोई समाज आगे नहीं बढ़ सकता-प्रधानमंत्री

No society can move forward by doing injustice to our mothers and sisters : PM Shri @narendramodi #womensday pic.twitter.com/KzW2xbQDI3

I am a woman
I am a Muslim woman
I am a Muslim woman whose plight is ignored by Western Feminists

कलाकारों ने अपनी कला के जरिए, तो साहित्यकारों ने अपनी रचना के जरिए महिलाओं की दशा पर अपने विचार प्रकट किए। वहीं महिला सशक्तिकरण की आवाज़ तेज की।

लिखें अपने विचार