अखिलेश को लगा राहुल से होकर पहुंचा करंट, मोदी ने स्विच ऑन किया

करंट पर सियासत गरम, आज बनारस में जुटेंगे राहुल, अखिलेश, मोदी

0
146

अखिलेश को करंट लगा। वो करंट जो राहुल के गले लगने की वजह से उन्हें लगा है। दरअसल तार राहुल सितंबर 2016 में पकड़ी थी। बाद में अखिलेश उनसे जा मिले। अब पीएम नरेंद्र मोदी ने स्विच ऑन कर दिया है। यूपी की सियासत में करंट पर पर हंगामा अभी जारी है।

दरअसल सीएम अखिलेश को ये करंट उस तार से लगा है जिसे राहुल ने पकड़ा था। तब वो 22 साल यूपी बेहाल चिल्ला रहे थे। खाट सभाल कर रहे थे। बाद में फिजां बदल गयी। राहुल ने अखिलेश की साइकिल और अखिलेश ने राहुल का हाथ पकड़  लिया। अब मौका देखकर पीएम मोदी ने चौका जड़ दिया। उन्होंने यूपी के सीएम को करंट लगाने के लिए स्विच ऑन कर दिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने मिर्जापुर की सभा में याद दिलाया, “मणिहान में राहुलजी की खाट सभा थी। राहुलजी का हाथ बिजली का तार पर लग गया। गुलाम नबी जी ने कहा- हाथ मत रखिए, दिक्कत हो जाएगी। राहुल बोले कि ऐसा कुछ नहीं होगा। यहां के तारों में बिजली नहीं होती।”

इससे पहले अखिलेश-राहुल ने पहली बार लखनऊ में साथ में रोड शो किया था। उसमें दोनों हाथ से बिजली के तार ऊपर करते देखे गए थे। इस पर मोदी ने कहा था कि यूपी में तो बिजली ही नहीं आती। इसलिए राहुल हाथ से तार ऊपर कर रहे थे।

जवाब में अखिलेश ने कहा था कि पीएम तार छूकर देख लें कि उनमें करंट हैं या नहीं। श्री यादव ने कहा था, “मोदी झूठे बयान देकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं।”

प्रधानमंत्री पीएम मोदी के भाषण की अहम बातें

  • यूपी में जहां भी जाता हूं, एक से बढ़कर एक रैलियां हो रही हैं। सारे रिकॉर्ड्स तोड़ दिए। मतदान में भी आप रिकॉर्ड्स तोड़कर रहोगे।
  • यूपी का ये चुनाव एक उत्सव है। ये सपा, बसपा, कांग्रेस से मुक्ति का उत्सव है।
  • यूपी देश का इतना बड़ा राज्य है। अगर देश होता तो आबादी के लिहाज से दुनिया का पांचवां देश कहा जाता।
  • अगर यहां से बीमारी, बेरोजगारी, गरीबी मिट जाए तो हिंदुस्तान अपने आप आगे बढ़ जाएगा। यूपी बहुत ताकत रखता है।
  • अब तो ये मुद्दा है कि यूपी के नौजवानों का भविष्य कौन सुनिश्चित करेगा। यूपी की बहन-बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन लेगा।
  • बहनजी, मिर्जापुर के पत्थरों से आपको क्या नफरत थी? जब जांच शुरू हुई तो बताया गया कि पत्थर तो राजस्थान से लाया गया। जिनको मिर्जापुर के पत्थरों से नफरत हो, वे आपके वोट के हकदार होंगे क्या?
  • मुझे ये समझ नहीं आ रहा कि 13 साल से पुल बना रहे थे कि ताजमहल बना रहे थे। यही पुल सैफई के आसपास बनाना होता तो 13 साल इंतजार करते। ये लोग गुनहगार हैं आपके।
  • आज यूपी में होनहार नौजवानों को नौकरी मिलने की गारंटी है क्या? इसकी वजह भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार है।
  • इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इनको कई बार डांटा। लेकिन सरकार को इसकी आदत लग गई है।
  • यूपी में हर चीज का रेट लगा है। शिकायत दर्ज नहीं होने देनी है, इतना देना होगा। पेंशन निकलवानी है, इतना देना होगा। सरकारी योजना का फायदा देना है तो इतना देना होगा।
  • यूपी के भ्रष्टाचार पर अशोक चक्रधर की कविता याद आती है। इसमें 4 तरह के भ्रष्टाचार की बात कही गई है- नजराना (काम कराने का पहले पैसे देना), शुक्राना (काम के बाद पैसे देना), हकराना (हक के पैसे मांगना) और जबराना (जबरन पैसे लेना) दिखते हैं। इन सबको हराना है।
  • विंध्याचल की भूमि काशी के पास है, टूरिज्म का बड़ा केंद्र बन सकता है। लेकिन यहां की सरकार न तो टूरिज्म की चिंता है और न तो विकास की।
  • गरीब के लिए काम कैसे होता है, ये हमने करके दिखाया है। उन्हें मुफ्त में गैस कनेक्शन दे दिया।
  • 2022 में हिंदुस्तान की आजादी के 75 साल होने तक हम किसानों की आय दोगुनी कर देंगे। ये हमारा सपना है।
  • बीमार होते हैं तो डॉक्टर कई टेस्ट की सलाह देता है। जब तक टेस्ट न हो, वो दवा नहीं देता। ऐसा ही धरती माता की भी होता है। उसके लैब में टेस्ट होता है। सॉइल कार्ड से हमने टेस्ट कराया। इसके बाद किसान को बताया कि वो ये फसल पैदा करे तो ज्यादा फायदा होगा।
  • हमने एक के बाद कदम उठाए। प्रधानमंत्री बीमा योजना लाए। अगर बुआई नहीं हुई, फसल नहीं हुई तो इसके बाद पैसे मिलेंगे।
  • गरीब के लिए हार्ट में लगने वाले स्टेंट के पैसे कम किए।
  • देश की बर्बादी के पीछे एक ही कारण है- भ्रष्टाचार और कालाबाजारी।

लिखें अपने विचार